Saturday, 28 March 2015

सुहागरात को बनाना चाहते हैं यादगार तो यह लेख आपके लिए..

.अक्सर हम शादी से ठीक पहले सुहागरात के सपनों को मन ही मन बिखेर कर बैठ जाते हैं। कैसे होगा, क्या होगा, कितनी देर होगा और किस हद तक होगा। इन सवालों के जवाब रोमांच और हिचक में कभी-कभार भटक जाते हैं व हम अपनी बेशकीमती रात को यूं ही गंवा देते हैं। का जानें क्या करें जब आए आपकी सुहागरात-  अब दूल्हे को चाहिए कि वह अपने सुहागसेज की तरफ धीरे धीरे आगे बढ़े। इसके बाद दुल्हन अपने पति के अभिवादन करने के लिए सेज से उतरने की कोशिश करे। इसके बाद दूल्हे को चाहिए कि वह अपनी पत्नी को बैठे रहने के लिए सहमति दें और इसके साथ ही थोड़े से फासले पर बैठ जाए। अब दूल्हा दुल्हन का घूंघट धीरे-धीरे उठाए तथा मुंह दिखाई की रस्म को पूरा करते हुए कोई उपहार जैसे अंगूठी, चेन, हार आदि दुल्हन को देना चाहिए। इसके बाद पति को चाहिए कि वह पत्नी के साथ कुछ मीठी-मीठी बातें करते हुए परिचय बढ़ाएं। पति को चाहिए कि हल्के हाथ से अपनी पत्नी के हाथों को स्पर्श करे। उसे अपने हंसमुख चेहरे तथा बातों से हंसाने की कोशिश करें। इसके बाद धीरे-धीरे जब पत्नी की शर्म कम होती जाए तो उसे आलिंगन में भर लें और उसके गालों पर चुंबन करें। इसके लिए धीरे धीरे पत्नी के दोनों गालों पर, फिर गर्म जलते हुए होठ पर, फिर होठों से फिसलते हुए उसके गर्दन पर और फिर छाती पर चूमें। जब लगे कि वह आपके और करीब आना चाहती है तो उसे पूरा सुख धीरे-धीरे देने की कोश‍िश करें। यदि पत्नी आपके साथ आलिंगन-चुंबन में सहयोग देने लगे तो पुरुष को चाहिए कि वह उसके शरीर के कई उत्तेजक अंगों को छूने का प्रयास करें जैसे- स्तनों का स्पर्श करें, धीरे-धीरे उनको सहलाएं तथा बाद में धीरे-धीरे दबाएं। इसके बाद आपको चाहिए कि उसकी कमर, जांघ तथा नितंब आदि की तारीफ करें और धीरे-धीरे अपने हाथों से उसके कपड़े को उठाकर, हाथों को अंदर डालकर जंघाओं को सहलाएं। इस क्रिया के समय में उसकी सांसे भी तेज चलने लगेंगी और कांपने लगेंगी। जब इस प्रकार की क्रिया पत्नी करने लगे तो पुरुष को समझ लेना चाहिए कि वह अब सेक्स के लिए पूरी तरह से तैयार हो चुकी है। अधिकतर सुहागरात के दिन पुरुष अपनी कामोत्तेजना को शांत करने के बाद यह नहीं देखता है कि मेरी पत्नी भी संतुष्ट हुई है या नहीं। यदि स्त्री संतुष्ट हो जाती है तो उसका शरीर ढीला पड़ जाता है, पसीना आने लगता है, आंखे बंद हो जाती हैं और लज्जा उसके चेहरे पर दुबारा से दिखाई देने लगती है।

2 comments:

पेरोनीज रोग (लिंग का टेढ़ा होना), जानें इसके कारण, लक्षण और ठीक करने के उपाय-

                                                         पेरोनीज रोग (लिंग का टेढ़ा होना), जानें इसके कारण, लक्षण और ठीक करने के उपाय- पुर...