Saturday, 21 March 2020

कहीं आपकी यौन इच्छा (सेक्स ड्राइव) कम होने के पीछे डिप्रेशन तो नहीं है?


कहीं आपकी यौन इच्छा (सेक्स ड्राइव) कम होने के पीछे डिप्रेशन तो नहीं है?

डिप्रेशन के कारण व्यक्ति का यौन जीवन प्रभावित होता है। इसके लक्षणों की वजह से व्यक्ति की यौन इच्छा कम हो जाती है। जिसे कुछ आसान उपायों की मदद से दूर किया जा सकता है।

संबंधों में मधुरता बनाए रखने के लिए सेक्स बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यौन संबंधों की कमी आपके रिलेशन को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है। आजकल अनियमित खान पान और गलत लाइफस्टाइल की वजह से लोगों में यौन संबंधों को लेकर रूझान कम हो जाता है। लेकिन इसके अलावा डिप्रेशन भी आपकी सेक्स लाइफ को प्रभावित करता है।

यौन संबंध ना बनाने के पीछे के कारण: 
यौन संबंध ना बनाने के पीछे दो महत्वपूर्ण कारण होते हैं। पहला आपका साथी डिप्रेशन में है और दूसरा डिप्रेशन की वजह से सेक्स ड्राइव की अनुपस्थिति। अगर आप डिप्रेशन की समस्या से बाहर आ जाते हैं तो आपकी सेक्स ड्राइव खुद-ब-खुद ठीक हो जाती है। डिप्रेशन की समस्या तब ज्यादा बढ़ जाती है जब आपका दिमाग किसी चीज को हैंडल नहीं कर पाता है। तो हमारा दिमाग इस समय हमारी भावनाओं को सुन्न कर देता है। वह इस तरह की भावनाओं को सुन्न करता है जिस भावना को आप महसूस नहीं करना चाहते हैं। हमारा दिमाग सेक्सुअल इच्छा को क्रिएट करता है। दिमाग में रिलीज होने वाले केमिकल सेक्सुअल आर्गन के कार्य के लिए जरुरी होता है। जब व्यक्ति डिप्रेशन में होता है तो ये केमिकल के रिलीज में बाधा आती है जिसकी वजह से सेक्स करने की इच्छा कम हो जाती है।

डिप्रेशन के लक्षण:
ब्रेन में रासायनिक असंतुलन के कारण डिप्रेशन का शिकार होना पड़ता है। हार्मोन संबंधी कारकों की वजह से से भी आपको डिप्रेशन हो सकता है। अन्य बीमारियों के कारण भी डिप्रेशन हो सकता है। डिप्रेशन का सबसे आम लक्षण निम्नलिखित हैं:

1- हमेशा उदास रहना।

2- अपनी गतिविधियों में रुचि कम लेना।

3- किसी बात से निराश हो जाना।

4- अनिद्रा और थकान के कारण।

5- चिड़चिड़ापन और चिंता।

6- बहुत कमजोरी और दर्द होना।

7- यौन रोग की समस्या।



डिप्रेशन के दौरान सेक्स लाइफ वापस लाने के उपाय:

1-अपने साथी से बात करें: 
अगर आपका साथी डिप्रेशन में है तो इस बारे में अपने साथी से बात करें। अपने साथी से बात करने से आप दोनों के बीच रिश्ता गहरा होगा और इंटिमेसी भी बढ़ेगी। इसके साथ ही यह आपको सेक्स ड्राइव कम होने के गिल्ट को कम करता है। रिश्ता गहरा होने से आपकी इच्छा बढ़ती है। अगर आप रिलेशनशिप में नहीं है तो इस बारे में अपने दोस्त से बात करें।

2-एक्सरसाइज करें: 
इस समस्या को दूर करने के लिए आप वॉकिंग, स्वीमिंग, या बाइक राइडिंग जैसी एक्सरसाइज कर सकते हैं। एक्सरसाइज करने से आपके दिमाग में केमिकल रिलीज होते हैं और डिप्रेशन के लक्षणों को बढ़ाने वाले केमिकल को कम करते हैं।

3-सेक्सोलोगिस्ट  से बात करें: 
बहुत से लोगों को यौन समस्या से लेकर प्रोफेशनल से बात करने में शर्मिंदगी महसूस होती है। अगर आप डिप्रेशन से ग्रसित हैं तो आप इस तरह की भावनाओं से डील कर रहे होते हैं। इसके लिए आप प्रोफेशनल की मदद ले सकते हैं ताकि इस समस्या का समाधान किया जा सके।

4-मैडिटेशन  का अभ्यास करें: 
डिप्रेशन को दूर करने के लिए उसके कारण का पता होना जरुरी होता है। मेडिटेशन और दिमाग को शांत रखने से भावनात्मक रुप से मजबूत होने के लिए यह मदद करता है। मेडिटेशन और माइंडफुलनेस का अभ्यास करने से डिप्रेशन के लक्षण कम होते हैं।




Monday, 9 March 2020

प्रोस्टेट ग्लैंड से जुड़ी कोई भी समस्या यौन जीवन को प्रभावित कर सकती है



प्रोस्टेट ग्लैंड से जुड़ी कोई भी समस्या आपके यौन जीवन को प्रभावित कर सकती है:

प्रोस्‍टेट ग्रंथि को पौरुष ग्रंथि भी कहा जाता है, यदि यह बढ़ जाये तो कई प्रकार की सेक्‍स समस्‍यायें शुरू हो जाती हैं। समय से पहले शुक्राणुओं का गिरना और शीघ्रपतन होने जैसी समस्‍यायें प्रोस्‍टेट ग्रंथि के बढ़ने के बाद होने लगती हैं। इसलिए यदि आपका प्रोस्‍टेट सामान्‍य से अधिक है तो इसके कारण आपका सेक्‍स जीवन प्रभावित हो सकता है।

स्वस्थ जीवनशैली के साथ स्वस्थ आहार लेना पुरुषों के प्रोस्टेट ग्लैंड को समस्याओं से मुक्त रखने में मदद करता है। हर पुरुष को अपने यौन स्वास्थ्य को सही रखने के लिए प्रोस्टेट ग्लैंड को स्वस्थ रखना जरुरी होता है।

प्रोस्टेट ग्लैंड मनुष्य के शरीर का सबसे संवेदनशील अंग हैं। प्रोस्टेट ग्लैंड से जुड़ी कोई भी समस्या लंबे समय तक यौन समस्या का कारण बन सकती है। इसलिए, प्रोस्टेट के स्वास्थ्य के बारे में आपको बहुत सावधान रहने की जरुरत होती है। स्वस्थ जीवनशैली के साथ स्वस्थ आहार लेने से आप प्रोस्टेट ग्लैंड को समस्याओं से मुक्त रख सकते हैं। इसके लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं कि यौन रूप से स्वस्थ रहने के लिए अपने दैनिक आहार में क्या शामिल करना चाहिए। आम तौर पर, प्रोस्टेट से जुड़ी समस्याएं 50 वर्ष की उम्र के बाद होती हैं। इसलिए उम्र के इस पड़ाव में व्यक्ति को ध्यान रखना पड़ता है। हालांकि प्रोस्टेट ग्लैंड को स्वस्थ रखने के लिए आप कुछ एक्सरसाइज और डाइट टिप्स अपना सकते हैं।


प्रोस्टेट ग्लैंड को स्वस्थ रखने के लिए डाइट टिप्स
नमक का सेवन कम करें। डिब्बाबंद और प्रोसैस्ड फूड ना खाएं। आहार में सोडियम की मात्रा कम लें।
गाढ़े रगं वाले फल और सब्जियां खाएं। अपने आहार में चुकंदर, अंगूर, तरबूज, पालक आदि शामिल करें। एक दिन में कम से कम 5 फल खाएं ।
शुगर का सेवन कम करें। सोडा, सॉफ्ट ड्रिंक, एनर्जी ड्रिंक और आर्टिफिशियल स्वीटनर वाले ड्रिंक पीने से बचें।
मैदा या रिफाइंड फ्लोर की जगह संपूर्ण अनाज का सेवन करें। सफेद ब्रेड, पास्ता, पिज्जा आदि का सेवन ना करें।
अपने लिए डाइट प्लान तैयार करें और एक ही बार में ज्यादा खाना ना खाएं।
लैंब, पॉर्क और प्रोसैस्ड मीट आदि का कम सेवन करें। मछली, अंडा, सोया आदि स्वस्थ प्रोटीन खाएं।
अधिक फैट का सेवन ना करें। ऑलिव ऑयल, बादाम, अखरोट आदि स्वस्थ फैट खाएं। पैक्ड फूड से बचें।


प्रोस्टेट ग्लैंड को स्वस्थ रखने के लिए एक्सरसाइज टिप्स
हल्के व्यायाम करें। जिम कोच के मार्गदर्शन के साथ एक्सरसाइज करें।
एक्टिव रहना आपके लिए हमेशा अच्छा होता है। रोजाना टहलना आपके लिए बेहतर होता है। इसके अलावा आप जॉगिंग और रनिंग भी कर सकते हैं।
जरुरत से ज्यादा व्यायाम ना करें। किसी भी तरह के एक्सरसाइज को करने से पहले ट्रेनर से सलाह लें।
योगा का अभ्यास करें क्योंकि यह कई स्वास्थ्य समस्याओं से छुटकारा पाने में मदद करता है।

Sunday, 1 March 2020

Nightfall (स्वप्नदोष) के कारण और समाधान




Nightfall (स्वप्नदोष) के कारण और समाधान


Nightfall (स्वप्नदोष) की समस्या किशोरों में होने वाली एक आम यौन समस्या है । जिसमे अनैच्छिक रूप से वीर्यपात हो जाता है । हालांकि ये समस्या कोई गंभीर समस्या नहीं है पर अगर ये समस्या रोजाना या बार- बार हो तो इलाज की जरूरत पड़ती है ।


स्वप्नदोष जिसे अंग्रेजी में वेट ड्रीम्स, नाईट फॉल और नोक्टर्नल एमिशन के नाम से भी जानते हैं। किशोरावस्था में प्रवेश कर चुके लड़कों में आम होता है । यदि यह कभी- कभी होता है तो इसमें कोई समस्या जैसी बात नहीं है, लेकिन जो पुरुष किशोरावस्था के बाद भी स्वप्नदोष की समस्या से जूझ रहे होते हैं, उन्हें डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए । शोधकर्ताओं के अनुसार पुरुष इस समस्या के बारे में खुल के बात करने में शर्मिन्दा महसूस करते हैं, इसलिए वो इस समस्या पर ध्यान नहीं देते और नजरअंदाज कर देते हैं। स्वप्नदोष की समस्या से शर्मिन्दा होने या इसे नजरअंदाज करने से पहले इसके बारे में पूरी तरह जान ले ।


स्वप्नदोष का कारण:


सोते वक्त कभी-कभी जननांगो में कपडे द्वारा या फिर सोने की मुद्रा(पोजीशन) की वजह से उत्तेजना बढ जाती है और अनैच्छिक रूप से स्खलन(इजाकुलेशन) हो जाता है। कभी-कभी लिंग में बिना किसी स्पर्श के भी स्खलन हो जाता है। शरीर में वीर्य का निर्माण होते रहता है चाहे आप यौन रूप से सक्रीय हो या ना हो या फिर आप नियमित रूप से हस्तमैथुन करते हो या नहीं करते हो। अगर आप नियमित रूप से चरमोत्कर्ष(ओर्गाज्म) का अनुभव नहीं करते और फिर भी कामुक हो जाते हैं, तो प्रोस्टेट ग्लैंड(प्रोस्टेट ग्रंथि) में वीर्य की बहुलता आपके जननांगों को सवेंदनशील बना देती है और स्वप्नदोष हो जाता है।


कब होता है स्वप्नदोष?:


स्वप्नदोष की समस्या किशोरावस्था की उम्र में ही होती है । इस उम्र में शरीर में वीर्य का निर्माण तेजी से होता है, जिसकी वजह से वीर्य की अधिकता स्वप्नदोष के रूप में सामने आती है । आमतौर पर स्वप्नदोष सोते वक्त ही होता है । मगर कभी-कभी किसी भी वक्त बिना किसी उत्तेजना और लिंग में स्पर्श के भी हो जाता है, इसे भी स्वप्नदोष ही कहते हैं। ये जरुरी नहीं कि स्वप्नदोष के दौरान आपके लिंग में तनाव हो। स्वप्नदोष बिना अलैंगिक तनाव के भी हो जाता है। एक आंकड़े के अनुसार 80% प्रतिशत से ज्यादा पुरुष अपने जीवनकाल में कम से कम एक बार स्वप्नदोष का अनुभव करते हैं ।


कैसे पायें स्वप्नदोष से निजात?:


स्वप्नदोष का होना किसी भी तरह के शारीरिक या मानसिक विकार का संकेत नहीं है। वास्तव में स्वप्नदोष का होना इस बात का सूचक है की आपका प्रजनन तंत्र सही से काम कर रहा है। हालांकि, स्वप्नदोष अगर नियमित रूप से होने लगे तो ये परेशानी का सबब बन सकता है। ऐसे में इसे रोकना जरुरी हो जाता है। जीवन शैली में बदलाव लाकर और व्यायाम और योग की मदद से स्वप्नदोष की समस्या से निजात पाया जा सकता है।


स्वप्नदोष से निजात पाने तरीके:


1.रिलैक्स रहें:
कुछ मामलों में बहुत ज्यादा तनाव स्वप्नदोष की वजह बन जाता है । ऐसे में अच्छी नींद का लेना और नियमित व्यायाम करना स्वप्नदोष से निजात पाने का अच्छा उपाय है।


2. ढीले कपडे पहन कर सोयें:
ढीले कपडे पहन कर सोना या फिर निर्वस्त्र होकर सोने से भी स्वप्नदोष के होने की संभावना कम हो जाती है।


3. मसालेदार भोजन का सेवन कम करें:
ज्यादा तीखे और मसालेदार भोजन का सेवन भी स्वप्नदोष की समस्या के लिहाज से सही नहीं होता। गर्म भोज्य पदार्थ जैसे हरी मिर्च का सेवन कम कर दें।


4. कामुक करने वाली चीजो से दूर रहे:
जितना हो सके उतना उन स्थितियों से दूर रहने की कोशिश करें जिनसे आप कामुक हो जाते हैं। पोर्नोग्राफिक सामग्री से दूर रहें।


5. योग और मेडिटेशन करें:


योग और मेडिटेशन आपकी आत्मा और शरीर दोनों एक दूसरे से करीब लाने में मदद करते हैं। योग और मेडिटेशन करें और मानसिक शान्ति बनाये रखें।

अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से संपर्क करें 9305273775




Kashyap Clinic Pvt. Ltd.



Blogger:  https://drbkkashyap.blogspot.com/   


Justdial:

https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-in-Civil-Lines/group


Website:  http://www.drbkkashyapsexologist.com/


Gmail: dr.b.k.kashyap@gmail.com


Fb: https://www.facebook.com/DrBkKasyap/


Youtube https://www.youtube.com/channel/UCE1Iruc110axpbkQd6Z9gfg


Twitter: https://twitter.com/kashyap_dr


Lybrate:  https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist


Sehat :  https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad


Linkdin:


https://www.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780/?

पुरुष बांझपन (Male Infertility) कारण एवं उपचार

                                  पुरुष बांझपन (Male Infertility) कारण एवं उपचार- पुरुषों में इनफर्टिलिटी की समस्या के कारण वे पिता बनने के...