गुरुवार, 10 अगस्त 2023

क्या किडनी की बीमारी यौन जीवन को प्रभावित करती है?

                                       

क्या किडनी की बीमारी यौन जीवन को प्रभावित करती है?


सेक्स में आपकी रुचि बदल सकती है

किडनी की बीमारी या किडनी फेल होने की वजह से सेक्स में आपकी रुचि बदल सकती है। सबसे पहले सेक्स को लेकर आपकी रुचि कम हो सकती है यह इसलिए हो सकता है क्योंकि हमें अपनी बीमारी से लड़ने के लिए शारीरिक और भावनात्मक रुप से ऊर्जा की आवश्यकता होती है। लेकिन समय के साथ आपकी रुचि सामान्य हो सकती है।

लिंग को अधिक देर तक खड़ा रखने में असमर्थ हो सकते है

कुछ लोग अपने लिंग को अधिक देर तक खड़ा रखने में असमर्थ होते हैं और किडनी फेल होने वाले मामलों में यह बेहद आम है । यह किडनी की दवाओं के साइड इफेक्ट से हो सकता है । खून में गंदे या ज़हरीले पदार्थों का निर्माण होता है जो डायलिसिस या दूसरे तरीकों से हटाया नहीं जा सकता है। इनमें से कई समस्याओं का इलाज किया जा सकता है, इसलिए सवाल पूछने या मदद लेने से कतराना नहीं चाहिए ।

           सेक्स प्रक्रिया को कभी-कभी भावनायें भी प्रभावित करती है। इसमें तनाव, डिप्रैशन, विकलांगता, मृत्यु का डर और शादी की समस्याएं जैसे बहुत कुछ शामिल हैं। कुछ लोगों में, किडनी की बीमारी होने से शारीरिक परिवर्तन हो सकते हैं जो उन्हें कम आकर्षक महसूस करा सकते हैं। इससे सैक्स करने को लेकर रुचि भी प्रभावित हो सकती है । उन्हें अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए। इनमें से कई समस्याओं का इलाज सफलतापूर्वक किया जा सकता है।


क्या सेक्स  किडनी के रोगियों के लिए सुरक्षित है ?

कुछ रोगियों और उनके पार्टनर को यह चिंता हो सकती है कि सेक्स करने से रोगी की मृत्यु हो सकती है या डायलिसिस के इस्तेमाल और किडनी ट्रांसप्लांट को नुकसान पहुंचा सकती है। अगर सेक्स, रोगी पर किसी प्रकार को कोई दबाव, चिंता या तनाव नहीं डालता है, तो इससे नुकसान नहीं होगा। यह डर लोगों के सेक्स गतिविधि न करने का कारण बन सकता है। किडनी ट्रांसप्लांट के बाद तब तक सेक्स के लिए इंतजार करना ज़रुरी है जब तक टांकों के निशान ठीक नहीं हो जाते और अगर एक बार डॉक्टर ने कह दिया कि सेक्स गतिविधि कर सकते हैं तो उसके बाद सेक्स करने को लेकर ट्रांसप्लांट किडनी के नुकसान के बारे में चिंता करना बेकार है।

किडनी के मरीज खुद की मदद कैसे कर सकते हैं?

किडनी की बीमारी और उसके उपचार के बारे में जानने में एक्टिव रहें, संतुलित आहार का पालन करें, सभी दवाओं को ठीक से लें और किसी भी तरह के साइड इफेक्ट के बारे में डॉक्टर को बताएं, इसके अलावा मांसपेशियों की टोन, शक्ति की मदद करने के लिए एक व्यायाम प्रोग्राम के लिए पूछें। यदि आवश्यक हो तो आपका डॉक्टर वजन बढ़ाने या किसी कार्यक्रम का सुझाव दे सकते हैं । एक स्वस्थ जीवन शैली अपनाएं । ऐसी चीज़ों से दूर रहें जो आपकी सेक्स क्रिया को प्रभावित कर सकती हैं, जैसे - बहुत अधिक शराब पीना और धूम्रपान करना आदि ।


क्या बच्चे पैदा करने में कोई समस्या है?

स्पर्म यानि वीर्य उत्पादन किडनी की बीमारी से प्रभावित नहीं होता लेकिन हां, गर्भाश्य में जटिलताएं हो सकती हैं और गर्भावस्था शरीर पर बहुत तनाव डाल सकती है । अगर आपको किडनी की बीमारी या आपकी किडनी फेल है, तो यह आपको और आपके अजन्मे बच्चे के स्वास्थ्य को खतरे में डालने के लिए काफी है । यह किडनी की बीमारी को और भी बदतर बना सकता है। यदि आप गर्भवती होने की सोच रही हैं, तो आपको अपने डॉक्टर से सावधानी से चर्चा करनी चाहिए।

किडनी की बीमारी यूं तो सेक्स जीवन पर प्रभाव नहीं डालती परंतु यदि आप सामान्य लोगों की तरह जीवनशैली अपनाएंगे तो आपको समस्या हो सकती है, इसलिए जागरुक रहने की आवश्यकता है । तनाव न लें और जितना हो सके सावधानी बरतें ।



यौन शक्ति बढ़ाने वाली दवाओ के नुकसान

                                              यौन शक्ति बढ़ाने वाली दवाओ के नुकसान शादी-विवाह के बाद शीघ्रपतन पुरुषों के लिए सबसे बड़ी सिरदर...