Wednesday, 27 June 2018

टेसेटोस्टेरॉन हार्मोन का शरीर पर प्रभाव

टेसेटोस्टेरॉन हार्मोन का शरीर पर प्रभाव


टेसेटोस्टेरॉन हार्मोन का निर्माण शरीर में युवा होने के साथ ही शुरू हो जाता है। जबकि कुछ शोधकर्ता मानते हैं कि इसका निर्माण गर्भावस्था से ही शुरू हो जात है और युवा होने पर यह पूरी तरह सक्रीय हो जाता है। इस कारण ही लड़के-लड़कियां देखते ही देखते बड़े होने लगते हैं। किशओर से युवावस्था में प्रवेश करने की प्रक्रिया 10 से 12 साल की उम्र में ही शुरू हो जाती है। इस आयु में टेसेटोस्टेरॉन हार्मोन के कारण ही यौनांगों का विकास होने लगता है 

सेक्स एक ऐसा विषय है जो हमारे जीवन के लिए बहुत अहम है और सेक्स का शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है इसके बारे में सही जानकारी होना हमारे लिए बेहद जरूरी है ।


1. सेक्स और शरीर
सेक्स ऐसा विषय है जिससे हर इंसान खुद को जुड़ा महसूस करता है। क्योंकि यह विषय हमारे देश में थोड़ा दबा हुआ व छुपाया जाने वाला है, इस कारण लोगों में इसकी सही जानकारी का अभाव है और वे इसके बारे में अधिक जानना चाहते हैं। इसी के चलते सेक्स को लेकर कई गलतफहमियां भी मौजूद हैं। लेकिन असल में तो सेक्स कई लिहाज से फायदेमंद है। वहीं इसके कुछ नुकसान भी हैं। कुल  मिला कर सेक्स से हमारे शरीर और हेल्थ पर काफी असर पड़ता है। चलिए जानते हैं कि शरीर पर सेक्स का क्या प्रभाव पड़ता है।
2. सेक्स करते रहना सेहत के लिए लाभदायक होता है
खासतौर पर प्रतिबद्ध और अपने प्यारे साथी के साथ सुरक्षित सेक्स, चिकित्सा स्वास्थ्य लाभ युक्त होता है। यह एक व्यायाम की तरह लाभ प्रदान कर सकता है। ऐसे में बिस्तर एक अच्छी एक्ससाइज मशीन की तरह काम करता है और यौन गतिविधि 200 कैलोरी तक बर्न कर सकता है। सेक्स फिटनेस सुधारने में योगदान करता है।

3. सेक्स शरीर में दर्द भी पैदा कर सकता है
हां यह जानकारी शायद आपको अच्छी न लगे। लेकिन कभी कभी संभोग के दौरान शरीर दर्द का अनुभव करता है। दर्द के कई कारणों हगो सकते हैं, जैसे योनि का सूखापन, एसटीडी, मूत्र मार्ग में संक्रमण, एन्डोमीट्रीओसिस व कुछ अन्य कारण। यदि सेक्स में दर्द अधिक हो तो तत्काल डॉक्टर से संपर्क करें। रक्त स्राव या सेक्स के बाद दर्द योनि संक्रमण या किसी अन्य समस्या का परिणाम हो सकता है। सेक्स के दौरान पीठ के निचले हिस्से में दर्द भी हो सकता है।
4.शरीर के हार्मोन होते हैं प्रभावित
सेक्स से हमारे जीवन को चार तरह के हार्मोन प्रभावित करते हैं। ये चार हार्मोंन ऑक्सिटोसिन हार्मोन, वैसोप्रेसिन हार्मोन, फेनाइलेथैलामाइलिन हार्मोन तथा टेसेटोस्टेरॉन हार्मोन होते हैं।
5. ऑक्सिटोसिन हार्मोन का शरार पर प्रभाव
शोधकर्ताओं द्वारा ऑक्सिटोसिन हार्मोन का शोध करने पर ज्ञात हुआ कि शरीर में मौजूद यह हार्मोन कुछ गौंद की तरह का होता है, जो पुरुष और स्त्री के बीच आकर्षण पैदा  कर उत्तेजित करता है। यह हार्मोन स्त्रियों के स्तनों में दूध बनाने का काम भी करता है। सेक्स करने के बाद जब लिंग में उच्चेजना समाप्त हो जाती है तो उसे दोबारा उच्चेजित करने का काम भी यही ऑक्सिटोसिन हार्मोन ही करता है।

अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735




Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

Saturday, 23 June 2018

सेक्स से कैसे बढती है आपकी खूबसूरती

 सेक्स से कैसे बढती है आपकी खूबसूरती 

सेक्स कुदरती रूप से खूबसूरती को बढ़ाता है। आइए जानते हैं कि कैसे यह ‘कुदरती’ उपाय आपके चेहरे पर चमक बढ़ा सकता है।
सेक्‍स से खूबसूरती
खूबसूरत दिखने के लिए न जाने हम कितना वक्त और पैसा खर्च करते हैं। अच्छा खाना, व्यायाम और अपने बारे में अच्छा–अच्छा महसूस करना यह सब चीजें हमें खूबसूरती और सेहत का खजाना देती है। लेकिन हमारे पास आपके लिए सुन्‍दर दिखने का एक और उपाय भी हैं। ऐसा उपाय जो मुफ़्त, मजेदार और कुदरती हैं। वह उपाय है सेक्‍स। क्‍या आप जानते हैं सेक्‍स से न केवल आपका स्‍वास्‍थ्‍य ठीक रहता है बल्कि यह आपको सुंदर भी बनाता है। 
डिप्रेशन दूर करें ऑर्गेज्म
सेरोटोनिन एक न्यूकरोट्रांसमीटर है, जो व्‍यक्ति की मनोदशा को नियंत्रित करने का काम करता है। इसी तत्‍व से हमें खुशी और तृप्ति का अहसास भी होता है। सेक्‍स में ऑर्गेज्‍म पर पहुंचने पर शरीर से सेरोटोनिन और डीएचईए का स्राव होता है। जिससे आप खुशी अनुभव करते है और आपका चेहरा खिलाखिला रहता है। साथ ही डीएचईए अवसाद से बचाने का काम करता है। और साथ ही यह हमारी इम्यूनिटी को भी मजबूत बनाता है।
जवां रखता है सेक्‍स
नियमित सेक्‍स आपको पहले से अधिक जवां बनाये रखने में मदद करता है। ऐसे लोग जो सप्ताह में तीन या उससे अधिक बार सेक्स करते हैं वे कम सेक्स करने वालों के मुकाबले अधिक जवां दिखायी देते हैं।
आत्मविश्वास बढ़ता है
जिन लोगों में आत्मविश्वास होता है, वे अधिक आकर्षक दिखते हैं। शोध से यह बात सामने आई है‍ कि ध्यान और सेक्स से आपको एक जैसा लाभ मिलता हैं। आप अपने और अपने आसपास के बारे में अच्छा महसूस करते हैं। आप मानसिक रूप से अधिक शांत, एकाग्र, शक्तिवान और सामर्थ्यवान महसूस करते हैं।
झुर्रियों दूर करें
सेक्स से आपके शरीर में रक्त प्रवाह बढ़ जाता है, जिससे चेहरे पर कुदरती रूप से चमक आती है। एक शोध से यह बात स्‍पष्‍ट हो गई है कि जो लोग अपनी सेक्स लाइफ से संतुष्‍ट होते हैं उनके चेहरे पर अन्‍य लोगों की तुलना में झुर्रियां बहुत देर से पड़ती हैं।


अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735




Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

Wednesday, 20 June 2018

भागदौड़ की जिंदगी में होने वाले तनाव के कारण भी सेक्स समस्या पैदा करती है

 भागदौड़ की जिंदगी में होने वाले तनाव के कारण भी सेक्स समस्या पैदा करती है 



हर व्यक्ति अपना वैवाहिक जीवन खुशहाल रखना चाहता है। जिसके लिए वह हर संभव प्रयास भी करता है ।
लेकिन कई बार व्यक्ति को कुछ ऐसी बीमारियां घेर लेती है जिससे वह न सिर्फ अनजान होता है बल्कि उसका वैवाहिक जीवन भी बिखर जाता है। व्यक्ति को विभिन्न आयु में सेक्स संबंधी रोग, सेक्स विकार,  सेक्स हार्मोंन संबंधी समस्याएं आने लगती है।  सेक्स रोग और विकारों से बचने के लिए, लोग दवाओं का सेवन करते हैं लेकिन वे इस बात से अनजान रहते हैं कि दवाओं के सेवन से सेक्स हार्मोंस में गड़बड़ हो सकती है, जिससे कई बार सेक्स मे रूचि कम हो जाती है। बहरहाल, आइए जानें सेक्स इच्छा में कमी के कारणों को ।

कई बार दवाओं के सेवन का सेक्स लाइफ पर प्रभाव पडता है। ऐसी कई दवाईयां है जिनके सेवन से सेक्स हार्मोन्स पर गहरा असर होता है। हालांकि आपकी सेक्स लाइफ के प्रति अरूची सिर्फ दवाओं की वजह से ही हो यह भी जरूरी नहीं।
कुछ ऐसी दवाईयां है जो आप अपनी आम बीमारियों को दूर करने के लिए लेते हैं लेकिन उन दवाओं के सेवन से आपकी सेक्स इच्छा में कमी आ सकती है। जैसे- उच्च रक्तचाप की दवाएं, हार्मोंन संबंधी दवाईयां, पेनकिलर्स, अस्थमा में ली जाने वाली दवाईयां, एंटी डिप्रेसेंट दवाएं, अल्सर  की दवाएं ऐसी हैं जिनके नियमित लेने से सेक्स में रूचि कम होने लगती हैं।
  
 व्यक्ति अचानक से सेक्स के दौरान घबरा जाए तो जल्दी शीघ्रपतन का शिकार हो जाता है । कई बार शीघ्रपतन के कारण भी सेक्स इच्छा में कमी होने लगती है।
कई बार सेक्स संबंधी भ्रम और  (डिप्रेशन) भी सेक्स में कम रूचि होने का कारण बनते हैं। दोस्तों और अन्य माध्यमों से ली गई गलत जानकारियां, कुछ बुरे अनुभव, सेक्स के प्रति पूरी तरह से जागरूक न होने से भी सेक्स‍ इच्छा में कमी आने की संभावना रहती है।
परिवार की जिम्मेदारियों का बोझ और भागदौड़ की जिंदगी में होने वाले तनाव के कारण भी सेक्स इच्छा में कमी आ जाती है ।


प्रोस्टेट ग्रंथि के अधिक बढ़ जाने यानी सेक्स विकार से भी सेक्स हार्मोंस में बदलाव आता है ।
शरीर में टेस्टोरॉन हार्मोंन के स्तर में कमी आने से सेक्स करने की इच्छा कम हो जाती है ।
शरीर में सेक्स संबंधी कमजोरी आने से यानी शरीर में कोई रोग हो जाए तो उसका सबसे ज्यादा प्रभाव सेक्स शक्ति पर पड़ता है । 
ये तमाम ऐसे कारण है जिनसे सेक्स इच्छा में कमी आ जाती है । कई बार महिला सेक्स विकार होने या फिर विभिन्न आयु में सेक्स संबंधी परेशानियों से सेक्स में व्यक्ति की रूचि कम हो जाती हैं। सेक्स संबंधी कोई भी विकार या रोग होने पर तुरंत डॉक्टर्स से संपर्क करना चाहिए और जल्द से जल्द उसका इलाज कराना चाहिए।

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735




Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist

Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad

Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

Monday, 11 June 2018

अंसतुष्ट वैवाहिक जीवन ( Unhappy Married Couple )..

अंसतुष्ट वैवाहिक जीवन ( Unhappy Married Couple )..


हमेशा से विवाह टूटने का अहम कारण होता हैं अंसतुष्ट वैवाहिक जीवन या खराब सेक्स लाइफ। और इसका प्रमुख कारण है सेक्स समस्याएं जो समय के साथ अगर न सुलझाई न जाएं तो रिश्ता बचा पाना नामुमकिन हो जाता है। शरीर की अन्य समस्याओं की तरह सेक्स संबंधी समस्याएं भी आम हैं। सेक्स करने के दौरान संतुष्टि ना होना या फिर शादी के बाद महिला या पुरुष में सेक्स को लेकर उत्तेजना ना होना जैसी कई सेक्स समस्याएं आम हैं। पुरुषों के पेनिस में तनाव ना आना, महिलाओं की योनि का सूखापन जैसी बहुत सी सेक्स प्रॉब्लम्स हैं, जिनके बारे में महिलाएं ही नहीं, पुरुष भी चर्चा नहीं करना चाहते। सेक्स प्रॉब्लम्स के चलते अगर समय रहते उचित सलाह और चिकित्सा न मिले तो व्यक्ति हीन भावना और डिप्रेशन का भी शिकार हो सकता है। ऐसी सेक्स प्रॉब्लम अगर सॉल्व न हों तो इसकी परिणति रिश्ता टूटने से लेकर आत्महत्या तक हो सकती है।
इनका निदान कैसे किया जाए...।

1. इरेक्टाइल डिसफंक्शन
कामेच्छा के समय पेनिस में तनाव न आना या आते ही पेनिस का ढीला पड़ जाना इरेक्टाइल डिस्फन्क्शन कहलाता है। इसका प्रमुख कारण भी शारीरिक न होकर मानसिक होता है। पेनिस में तनाव ना आने की सबसे बड़ी वजह चिंता करना और टेंशन लेना और सही खान पान ना होना है।
समाधान
यह सेक्स समस्या मानसिक होती है, इसीलिए इसका इलाज भी यही है कि आप सेक्स के पहले खुश रहें और पूरी तरह तनाव रहित होकर बेड पर जाएं। अगर तब भी बात न बने तो साइकोलॉजिस्ट का सहारा लें और फिर भी समस्या बनी रहे तो आखिर में सेक्सोलॉजिस्ट के पास जाएं।

2. दर्द भरा सेक्सुअल इंटरकोर्स
यह लेडीज की आम समस्या है। इंटरकोर्स के दौरान दर्द होना भी कई महिलाओं को सेक्स से दूर करता है। वेजाइना में सूखेपन, सूजन या किसी इंफेक्शन आदि के कारण यह समस्या हो सकती है।
समाधान
पार्टनर को मालूम होना चाहिए कि कब महिला को दर्द हो रहा है और कब महिला सहयोग दे रही है। जिसमें महिला आनंद उठाए, ऐसी पोजीशन में सेक्स करें तो यह समस्या उत्पन्न ही नहीं होगी। साथ ही इसके लिए एक अच्‍छा लुब्रिकेंट भी इस्‍तेमाल करना चाहिए। अगर इससे भी आराम ना हो या इंटरकोर्स के दौरान लगातार दर्द हो तो डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
3. गुप्त अंगों में इंफेक्शन
गुप्त अंग में खुजली एक और सेक्स समस्या है। इंफेक्शन, ठीक से वेजाइना की सफाई ना करने, कब्ज, गुप्त अंगों में इंफेक्शन आदि के कारण हो जाती है।
समाधान
यह समस्या साफ-सफाई रखने और सेक्स के दौरान कंडोम के प्रयोग से सही हो जाती है। अगर फिर भी समस्या लगातार बनी रहे तो डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
4. लुब्रिकेशन की कमी
महिलाओं की वेजाइना में लुब्रिकेशन यानि गीलेपन को उत्तेजना का पैमाना माना जाता है। उम्र बढ़ने के साथ महिलाओं में लुब्रिकेशन की कमी सामान्य है, लेकिन यदि कम उम्र में भी किसी महिला को इसमें कमी की शिकायत होती है, तो इस समस्या का इलाज होना चाहिए। लुब्रिकेशन में कमी होने पर इंटरकोर्स काफ़ी तकलीफ़देह हो जाता है।
समाधान
इसका इलाज भी सायकोलॉजिकल है। यूं तो पार्टनर का टच ही लुब्रिकेशन में काफी मददगार होता है। कई बार महिलाओं को पार्टनर के टच से लुब्रिकेशन नहीं होता। अगर पार्टनर के छूने से बात न बने तो बाज़ार में कई तरह की लुब्रिकेंट भी उपलब्ध हैं, इनका इस्तेमाल करें

5. सेक्स की इच्छा में कमी

यह समस्या सामान्य तौर पर महिलाओं में देखने को मिलती है। महिलाओं में सेक्स की इच्छा में कमी डिप्रेशन, थकान या स्ट्रेस की वजह से हो सकती है। कई महिलाओं को शरीर के कुछ ख़ास हिस्सों पर हाथ लगाने से दर्द भी महसूस होता है या ऐसा करना उन्हें अच्छा नहीं लगता। इससे भी वो सेक्स से बचना चाहती हैं।

समाधान

इसका इलाज किसी डाक्टर या नीम- हकीम के पास न होकर पार्टनर के पास ही है। पारिवारिक कलह व रिश्तों में टेंशन न हो, इसका खास ख्याल रखें। पार्टनर को चाहिए कि वो पहले अपने साथी को और उसकी जरूरत को समझें। अगर आपका साथी आपके साथ कम्फर्टेबल होगा तो आपकी सेक्स लाइफ भी अच्छी हो जाएगी।


6. पुरुषों में प्री मच्योर इजेकुलेशन

अगर सेक्स करते समय, समय से पहले पुरुष का सीमेन निकल जाए तो इसे प्री मच्योर इजेकुलेशन कहा जाता है। यह स्थिति सेक्स लाइफ खराब कर देती है। पर यह अक्सर कोई बीमारी न होकर मन की स्थिति होती है जिसका समाधान बहुत ही आसान है।
समाधान

जब व्यक्ति सेक्स करना शुरू करता है तो ज्यादा एक्साइटमेंट के कारण प्री मच्योर इजेकुलेशन होना आम बात है। यह बीमारी कम और मानसिक स्थिति पर ज्यादा निर्भर करता है। इसका उचित कारण ढूढें। सबसे पहले किसी साइकोलॉजिस्ट की सलाह लें। नीम- हकीम के पास जाने से बेहतर इसका सही इलाज करवाएं वो भी किसी अच्छे सेक्स विशेषज्ञ से।

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735




Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist

Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad

Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

Sunday, 3 June 2018

कामेच्छा का अभाव व उपचार

कामेच्छा का अभाव व उपचार 


आमतौर पर शारीरिक समस्याओं में मुख्य होते हैं, नापुंसकता,( इरेक्टल डिस्फक्शन, )कामेच्छा का अभाव, जिनकी वजह से कई बार वैवाहिक जीवन टूटने की कगार पर आ जाता है। 
गौरतलब है कि आहार मे दूध का प्रयोग, उडद का प्रयोग, नये देसी घी का सेवन, नये अन्नॊ का सेवन, साठी चावल दूध के साथ सेवन, सूखे मेवे, खजूर , मुन्नका, सिंघडा, मधु, मक्खन, मिश्रि, आदि आहार वीर्य वर्धक होते है।
 जबकि इन समस्याओं से निजात पाने के लिए घरेलू और अनेकों आयुर्वेदिक उपाय हैं। आयुर्वेद में ऐसी अनेक प्रकार की जड़ी-बूटियों का उल्लेख है, जिनके सेवन से आप शारीरिक समस्याओं से निजात पा सकते हैं।   
आयुर्वेदिक उपचार:  प्रतिदिन दूध के साथ शतावरी का सेवन करें ।  दूध को बहुत उबाल कर ही पीएं । केले और संतरे का नियमित सेवन करें ।   घी, मख्खन, हरी सब्जियां, फल और बादाम का रोजाना सेवन करें । इससे प्रोटीन  मिलता है और शुक्राणुओं में वृद्धि होती है । प्रतिदिन एक ग्लास गाजर का जूस पिएं या फिर प्रतिदिन चार-पांच गाजर खाएं।   
मूंगफली के दाने और सूखा नारियल खाना भी लाभदायक है।   सिर्फ दूध पीना शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है। दूध के पाचन के लिए जरूरी हे कि उसमें थोड़ी सी शक्कर भी मिलाई जाएं । शरीर में विटामिन या ( एंटीअक्ससिडेंट ) की मात्रा बनाए रखने के लिए पालक, फूल गोफी, गाजर जैसी हरी-सब्जियों का सेवन करना बहुत आवश्यक है ।   
इसके लिए नियमित एक्सरसाइज भी बहुत जरूरी है। नियमित एक्सरसाइज तनाव से मुक्ति व सेक्स लाइफ का खास टॉनिक है । हर एक व्यक्ति की शारीरिक बनावट और क्षमताएं अलग-अलग होती है। इसीलिए किसी भी प्रकार की औषिधि या अन्य खाद्य पदार्थो का सेवन चिकित्सीय सलाह पर ही करें ।
शरीरिक कमजोरी के मामले में एक बात का विशेष ध्यान रखें कि शराब-सिगरेट का सेवन बिलकुल न करें । चिकित्सीय सलाह पर अश्वगंधा का सेवन भी कर सकते हैं। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सिर्फ आहार ही पर्याप्त नहीं है, बल्कि पाचन क्रिया भी सही होनी चाहिए ।   
इसके लिए नियमित एक्सरसाइज भी बहुत जरूरी है। 
नियमित एक्सरसाइज तनाव से मुक्ति व सेक्स लाइफ का खास टॉनिक है । हर एक व्यक्ति की शारीरिक बनावट और क्षमताएं अलग-अलग होती है। इसीलिए किसी भी प्रकार की औषिधि या अन्य खाद्य पदार्थो का सेवन चिकित्सीय सलाह पर ही करें ।

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735




Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist

Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad

Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780




आइये जानें क्या है व्यक्तित्व व सेक्स के बीच संबंध डॉ बी० के० कश्यप द्वारा

                 आइये जानें क्या है व्यक्तित्व व सेक्स के बीच संबंध                            डॉ बी० के० कश्यप द्वारा यौन इच्‍छा आदमी...