Saturday, 23 July 2016

क्यों होती है घबराहट पहले सेक्स सम्बन्ध मे

 क्यों होती है घबराहट पहले सेक्स सम्बन्ध मे




लोग पहली बार सेक्स करते है तो उनको बहुत खुशी होती है। वह जोश के साथ सेक्स करते है और इसके साथ ही लोगो को बहुत घबराहट भी होती है। महिलाओं को लगता है कि पेनिस और वेजाइना में क्रिया होने के समय वो दर्द को सहन नहीं कर पायेंगी। लेकिन ये सिर्फ एक शंका है। ये घबराहट दिमाग में सेक्स को लेकर पहले से बैठे मिथकों की वजह से पैदा होती है। पहली बार इस  अहसास को महसूस करने के लिए घबराहट को दूर करना सबसे ज्यादा जरूरी है। - 

ब्लीडिंग- सबसे भी कॉमन है लोगों का ये सोचना कि पहली बार इन्टरकोर्स के दौरान ल़डकी के जननांगों से ब्लीडिंग होनी जरूरी है। कुछ लोग तो इसे लडकी के कौमार्य से जो़डकर देखते हैं। ब्लीडिंग न होने पर ये मान लिया जाता है कि लडकी पहले किसी के साथ जिस्मानी तौर पर रिश्ता बना चुकी है या वो वर्जिन नहीं हैं। सेक्सोलॉजिस्ट की मानें तो ब्लीडिंग ब्लड वेन्स के फटने की वजह से होती हैं। ऎसा दूसरी या तीसरी बार इंटरकोर्स करने पर भी हो सकता है। ब्लीडिंग होना जरूरी नहीं है। आजकल लडकियां स्पोट्र्स और उछलकूद की काफी एक्टिविटीज करती हैं। ऎसे में ब्लड वेन्स पहले ही फट सकती हैं जिसकी वजह से ऎसा हो सकता है कि सेक्स के दौरान ब्लीडिंग न हो। 

दर्द- कई महिलाएं पहली बार सेक्स के दौरान होने वाले दर्द को लेकर काफी डरी होती हैं। उन्हें लगता है कि पेनिस और वेजाइना में क्रिया होने के समय वो दर्द को सहन नहीं कर पायेंगी। लेकिन ये सिर्फ एक शंका है। ऎसा तब होता है, जब दोनों में से किसी के पर्सनल पार्ट सूखे हों। इसके लिए इंटरकोर्स से पहले फोरप्ले करें। ऎसा करने से दोनों पार्टनर के सेक्सुअल ऑर्गेन्स से रंगहीन लसलसा पदार्थ निकलता है, जो चिकनाई पैदा करता है। अगर फिर भी दर्द हो तो इंटरकोर्स धीरे-धीरे करें। 

कंडोम से मजा नहीं- कंडोम के इस्तेमाल करने पर लडके सेक्स का मजा नहीं ले पाते। ये आपके कंडोम के ब्रांड पर डिपेंड करता है। इसके लिए कम्फरटेबल और लेटेक्स कंडोम का इस्तेमाल करें। 

नशे से इंजॉयिंग सेक्स- ड्रिकिंग, ड्रग्स या कई तरह का नशा करके लोगों को लगता है कि सेक्स का मजा दोगुना हो जाता है, लेकिन इसमें कोई सच्चाई नहीं है। नशे की हालत में कोई आपका रेप और असॉल्ट भी कर सकता है। 

प्रेग्नेंसी से बचें- ज्यादातर पहली बार सेक्स बिना किसी प्लैनिंग के होता है। ऎसे में जाहिर है आपके पास कंडोम या किसी और तरह की प्रिकॉशन नहीं होती है। ऎसे हालात में एक कॉमन मिथ है कि अगर इंटरकोर्स के तुरंत बाद ल़डकी यूरीन पास करती हैं तो प्रेग्नेंसी नहीं होगी। सच ये है कि यूरीन यूट्रेस से पास होता है और स्पर्म डोम का इस्तेमाल करें। 

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Website-www.drbkkashyapsexologist.com

Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com

Fb-https://www.facebook.com/DrBkKasyap/
  


No comments:

Post a Comment

आइये जानें क्या है व्यक्तित्व व सेक्स के बीच संबंध डॉ बी० के० कश्यप द्वारा

                 आइये जानें क्या है व्यक्तित्व व सेक्स के बीच संबंध                            डॉ बी० के० कश्यप द्वारा यौन इच्‍छा आदमी...