Saturday, 8 February 2020

हस्तमैथुन (MASTURBETION) से होने वाले नुकसान, रोकने के उपाय और घरेलु उपचार:



हस्तमैथुन (MASTURBETION) से होने वाले नुकसान, रोकने के उपाय और घरेलु उपचार:
हस्‍तमैथुन यौन क्रिया का एक हिस्‍सा है। बहुत से लोग खासकर युवा वर्ग यौन सुख का अनुभव करने के लिए हस्‍तमैथुन करते हैं। कुछ मायनों में हस्‍तमैथुन फायदेमंद होता है। लेकिन अधिकांश लोगों के लिए यह यौन कमजोरी का कारण बन सकता है। यह यौन सुख पाने का अप्राकृतिक तरीका होता है। यदि लगातर या अधिक मात्रा में हस्‍तमैथुन किया जाता है तो इसके गंभीर दुष्‍प्रभाव हो सकते हैं। लेकिन हस्‍तमैथुन से आने वाली कमजोरी को दूर करने के लिए कुछ प्राकृतिक और घरेलू उपचार भी होते हैं। इस लेख में आप हस्‍तमैथुन से होने वाली कमजोरी को दूर करने का उपाय डॉ० बी० के० कश्यप के द्वारा  जान सकते हैं ।

हस्‍तमैथुन के  मुख्य कारण

ऐसे व्यक्ति जिन्‍हें  पर्याप्‍त यौन सुख प्राप्‍त नहीं होता है वे लोग संतुष्टि के लिए हस्‍तमैथुन का उपयोग करते हैं। विशेष रूप से हस्‍तमैथुन का प्रमुख कारण सेक्‍स की अधिक इच्‍छा और एकांत को माना जाता है। यह कोई रोग न होकर एक गंदी लत है जो स्‍वास्‍थ्‍य और समाज के लिए उचित नहीं है। किसी पुरुष या महिला के लिए हस्‍तमैथुन करने के अन्‍य कारण भी होते हैं :-
 हस्‍तमैथुन का प्रमुख कारण अधिक समय तक एकान्‍त में रहना है, जैसे ही समय मिले गंदे वीडियों, अश्‍लील चित्र देखना ।
अश्‍लील महिला या पुरुषों के संपर्क में रहना ।
कामवासना की अधिकता ।

हस्‍तमैथुन  की लत से होने वाले दुष्‍प्रभाव

सामान्‍य  रूप से किसी पुरुष के लिए हस्‍तमैथुन यौन सुख प्राप्‍त करने का एक कृत्रिम तरीका है। लगातार हस्‍तमैथुन करना किसी भी पुरुष के लिए हानिकारक हो सकता है। यह बाध्‍यकारी आदत आपके साथी के साथ आपके यौन संबंधों को भी प्रभावित कर सकती है। क्‍यों‍कि आप केवल अपने स्‍पर्श से उत्‍तेजित हो सकते हैं। अपने साथी के साथ स्‍वस्‍थ यौन संबंध का आनंद लेने के लिए और इससे होने वाले दुष्‍प्रभावों से बचने के लिए हस्‍तमैथुन की लत से छुटकारा पाने का प्रयास करना चाहिए। हस्‍तमैथुन से होने वाले दुष्‍प्रभावों में शामिल हैं: 
कमजोरी और थकान, निचले हिस्‍से में दर्द, मेमोरी लॉस, बालों का झड़ना या पतला होना, समय पूर्व स्‍खलन, लिंग का खड़ा न होना, उत्‍तेजित होने पर भी लिंग नरम रहना 
इन सभी समस्याओं से बचने के लिए यहां कुछ उपचार बताए जा रहे हैं। इन उपचारों का उपयोग कर आप हस्‍तमैथुन की लत से छुटकारा पा सकते हैं। साथ ही इससे होने वाली कमजोरी को भी दूर करने में मदद मिल सकती है ।

हस्‍तमैथुन  के रोकने के उपाय :

सभी लोग यह भलिभांति समझते हैं कि हस्‍तमैथुन कोई बीमारी नहीं है।
यह अपनी योन इच्‍छाओं में नियंत्रण न रख पाने की क्षमता को दर्शाता है।
बहुत कुछ यह हमारे आस-पास घटित होने वाली घटनाओं पर भी निर्भर करता है।
आइए जाने हस्‍तमैथुन की लत से छुटकारा कैसे पाया जा सकता है।

1   हस्‍तमैथुन रोकने का निश्चय करें

यदि आप हस्‍तमैथुन की लत से छुटकारा चाहते हैं तो पहले अपने मन में ही निश्‍चय करें। यह सबसें पहला और प्रभावी तरीका है जो हस्तमैथुन की लत को दूर कर सकता है। लेकिन आप केवल एक ही बार में अपनी लत पर जीत हासिल नहीं कर सकते है। क्योंकि यौन उत्तेजना आपके शरीर में कभी भी आ सकती है। इसलियें आपको जब भी यौन उत्तेजना महसूस हो आप अपने आपको किसी काम में व्यस्त कर लें या आराम करें और धीरे धीरें हस्तमैथुन की क्रिया को लंबा समय दें। जैसे कि दो सप्‍ताह में [ 1]  बार इस तरह का लक्ष्‍य निर्धारित करें। इस तरह से आप अपने मन में निश्‍चय करके हस्‍तमैथुन की लत से छुटकारा पा सकते हैं जो कि बहुत ही सरल और प्रभावी है ।

   अश्‍लील वीडियों देखने से बचें

आज के समय में इलेक्‍ट्रानिक मीडिया का चलन बहुत अधिक है। जिनके कारण आप आसानी से सेक्‍स संबंधित वीडियो को देखकर विचलित हो सकते हैं। इसलिए मोबाइल फोन, लैपटाप, कम्‍प्‍यूटर आदि उपकरणों में अश्‍लील संग्रह को अलग करें या इन्‍हें देखने से बचें। क्‍योंकि इन्‍हें देखकर आप में यौन उत्‍तेजना भड़क सकती है जिसे शांत करने के लिए हस्‍तमैथुन करने की आवश्‍यकता होती है। कुछ अध्‍ययन बताते हैं कि प्रोन वीडियों देखने वाले लगभग 90 प्रतिशत लोग हस्‍तमैथुन करते हैं। इस प्रकार हस्‍तमैथुन से बचने के लिए जितना संभव हो अश्‍लील चलचित्रों से बचना चाहिए ।

     मूत्राशय को खाली करें

हस्‍तमैथुन के लिए जिम्‍मेदार प्रमुख कारणों में से एक पूर्ण या भरा हुआ मूत्राशय हो सकता है। भरा हुआ मूत्राशय यौन उत्‍तेजना का कारण बन सकता है। इसलिए हमेशा अपने मूत्राशय को खाली रखना चाहिए। आपके यौन अंगों की उत्‍तेजना मूत्राशय दबाव के कारण अधिकतम हो सकती है। यह हस्‍तमैथुन के लिए हमारे शरीर और मस्तिष्‍क को सिग्‍नल पहुंचाता है। इसलिए यदि आप यौन उत्‍तेजना को कम करना चाहते हैं तो मूत्राशय को नियमित रूप से खाली करते हैं। यह आपके हस्‍तमैथुन को नियंत्रित करने का एक प्राकृतिक तरीका है

हस्‍तमैथुन  के दुष्‍प्रभाव  को  रोकने के  उपाय :

1 गिलास गर्म दूध लें और इसे रात के भोजन के साथ सेवन करें। इसके अलावा आप रात में सोते समय केसर युक्‍त 1 गिलास दूध का सेवन करें। यह हस्‍तमैथुन के बुरे प्रभाव को रोकने के लिए हर्बल उपचार के रूप में काम करता है ।
अत्‍याधिक व्‍यायाम हस्‍तमैथुन के नकारात्‍मक प्रभाव को दूर करने में मदद करते हैं। जैसे पैदल चलना, जॉगिंगयोग, साइकल चलाना आदि। इन व्‍यायामों को अपना कर आप हस्‍तमैथुन के आग्रह पर काबू पा सकते हैं ।
नींद की कमी आपके शरीर में हार्मोनल परिर्वतनों का कारण बन सकती है। हार्मोनल परिवर्तन हस्‍तमैथुन का प्रमुख कारण हो सकता है। इसलिए पर्याप्‍त मात्रा में नींद लेना हस्‍तमैथुन को रोकने में सहायक हो सकता है ।
1 गिलास गर्म दूध लें और इसमें 2 चम्‍मच अश्वगंधा पाउडर को अच्‍छी तरह से मिलाएं। सोने से पहले इस मिश्रण का उपभोग करें। यह भी आपके हस्‍तमैथुन कि इच्‍छा को नियंत्रित करने में सहायक हो सकती है ।

हस्‍तमैथुन से आई दुर्बलता को दूर करने के उपाय

जैसा कि आप जानते हैं कि हस्‍तमैथुन आपके शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक होता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि लगातार हस्‍तमैथुन के दौरान आपके शरीर से वीर्य का अधिक मात्रा में निष्‍कासन होता है। इसके अलावा यह हमारे शरीर को कमजोर भी करता है। लेकिन इस कमजोरी को दूर करने के लिए कुछ सामान्‍य से कदम उठाए जा सकते हैं जो हमारे खान-पान से संबंधित हैं। आइए जाने किस प्रकार हम हस्‍तमैथुन की कमजोरी को दूर कर सकते हैं ।

हस्‍तमैथुन से आई दुर्बलता को दूर करने का उपाय

यदि आप अपने हस्‍तमैथुन की लत से से आई दुर्बलता को दूर करना चाहते हैं तो दूध का अधिक सेवन करें। दूध और दूध उत्‍पादों का नियमित उपभोग आपके शरीर के लिए फायदेमंद होता है। 1 दिन में कम से कम 2 गिलास दूध लेना चाहिए। क्‍योंकि दूध ऐसा उत्‍पाद है जो हमारे शरीर की आंतरिक कमजोरीयों को दूर करता है। जस्‍ता समृद्ध होने के कारण यह आपके लिंग के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी फायदेमंद होता है। आप दूध के साथ केसर का उपभोग कर सकते हैं। रात में सोने से पहले केसर वाले दूध का सेवन करने पर यह हस्‍तमैथुन की लत से आई से आई दुर्बलता को दूर किया जा सकता है ।

हस्तमैथुन से आयी कमजोरी को दूर करने के लिए बादाम

सुपर फूड बादाम आपके सर्वांगीण स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होता है। यह विशेष रूप से यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने और यौन कमजोरियों को दूर करने में सहायक की भूमिका निभा सकता है। यह आपके शरीर में ताकत, सहनशक्ति को बढ़ाने में मदद करता है। हस्तमैथुन से आयी कमजोरी को दूर करने के लिए आप नियमित रूप से 4-5 बादाम का सेवन प्रतिदिन कर सकते है। इसके अलावा आप बादाम वाले दूध का भी सेवन कर सकते हैं। यह हस्‍तमैथुन से होने वाली कमजोरी को दूर करने का प्रभावी तरीका हो सकता है ।

हस्‍तमैथुन की कमजोरी का उपचार है पानी

यदि आप हस्‍तमैथुन की लत से परेशान हैं और इससे होने वाली शारीरिक कमजोरी के लिए‍ चिंतित हैं। ऐसी स्थिति में आपको पर्याप्‍त मात्रा में पानी का सेवन करना चाहिए। सुनने में यह सामान्‍य लगता है लेकिन अधिक मात्रा में पानी पीना यौन गलतियों से होने वाली कमजोरी को दूर करने का अच्‍छा तरीका हो सकता है। पर्याप्‍त पानी पीने से यह रक्‍त और ऑक्‍सीजन प्रवाह को इष्‍टतम स्‍तर पर बनाए रखने में मदद करता है। इसके अलावा यह शारीरिक और यौन थकावट से भी लड़ने में मदद करता है। इसलिए हस्‍तमैथुन की कमजोरी को दूर करने के लिए आप पर्याप्‍त पानी का उपयोग कर सकते हैं।

हस्तमैथुन से आई दुर्बलता को दूर करने का उपाय अदरक

इसे औषधीय जड़ी बूटी माना जाता है क्‍योंकि अदरक में एंटीऑक्‍सीडेंट गुण होते हैं। अदरक का उपभोग करने से आपके रक्‍त परिसंचरण में सुधार होता है और आप हस्‍तमैथुन के प्रलोभन को उत्‍पन्‍न करने से बच सकते हैं। कुछ अध्‍ययनों से स‍ाबित होता है कि आहार में अदरक को शामिल करने से 75 प्रतिशत लोगों में हस्‍तमैथुन की इच्‍छा में कमी आती है। इस तरह से आप अपने अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य और हस्‍तमैथुन से होने वाली कमजोरी को दूर करने के लिए अदरक का सेवन कर सकते हैं

हस्तमैथुन से आई दुर्बलता को दूर करने का उपाय अदरक

इसे औषधीय जड़ी बूटी माना जाता है क्‍योंकि अदरक में एंटीऑक्‍सीडेंट गुण होते हैं। अदरक का उपभोग करने से आपके रक्‍त परिसंचरण में सुधार होता है और आप हस्‍तमैथुन के प्रलोभन को उत्‍पन्‍न करने से बच सकते हैं। कुछ अध्‍ययनों से होता है कि आहार में अदरक को शामिल करने से 75 प्रतिशत लोगों में हस्‍तमैथुन की इच्‍छा में कमी आती है। इस तरह से आप अपने अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य और हस्‍तमैथुन से होने वाली कमजोरी को दूर करने के लिए अदरक का सेवन कर सकते हैं ।

मांसाहार और अंडों के सेवन से बचें

आप हस्‍तमैथुन से होने वाली कमजोरी को दूर करने वाले उपायों को अपनाते समय मांसाहार और अंडों के सेवन से बचें। क्‍योंकि ये आहार जटिल खाद्य पदार्थ होते हैं जिन्हें हमारे शरीर द्वारा आसानी से नहीं पचाया जा सकता है। इन आहारों को पचाते समय शरीर में कई रसायनों का उत्‍पादन होता है जो हस्‍तमैथुन की इच्‍छाओं को जन्‍म देते हैं। इसलिए आप इस प्रकार के खाद्य पदार्थों का कम से कम उपभोग करें जब तक की आप हस्‍तमैथुन पर पूर्ण नियंत्रण प्राप्त न कर लें ।

हस्‍तमैथुन की कमजोरी दूर करने के अन्‍य उपाय

आप अपने दैनिक जीवन में धार्मिक जीवन को शामिल कर सकते हैं। इसके लिए आप प्रार्थना करें और तनाव मुक्‍त रहने के लिए ध्‍यान का उपयोग करें। धार्मिक विचारों और अन्‍य पुस्‍ताकें को पढ़े ताकि आप अपने विचारों को बदल सकें और आपका ध्‍यान हस्‍तमैथुन की तरफ न जाए ।

अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से संपर्क करें 9305273775



Kashyap Clinic Pvt. Ltd.



Blogger:  https://drbkkashyap.blogspot.com/   


Justdial:

https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-in-Civil-Lines/group


Website:  http://www.drbkkashyapsexologist.com/


Gmail: dr.b.k.kashyap@gmail.com


Fb: https://www.facebook.com/DrBkKasyap/


Youtube https://www.youtube.com/channel/UCE1Iruc110axpbkQd6Z9gfg


Twitter: https://twitter.com/kashyap_dr


Lybrate:  https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist


Sehat :  https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad


Linkdin:


https://www.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780/?


No comments:

Post a Comment

डायबिटीज का यौन स्वास्थ (sex life)पर पड़ने वाला प्रभाव

                          डायबिटीज का यौन स्वास्थ  (sex life)पर पड़ने वाला प्रभाव- Diabetes and Sexual Health: डायबिटीज़ (Diabetes) एक हार्...