Saturday, 28 February 2015

https://www.facebook.com/DrBkKasyap/posts/818828161566111

http://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-%3Cnear%3E-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_QWxsYWhhYmFkIFNleG9sb2dpc3QgRG9jdG9ycyBhbGxhaGFiYWQ=_BZDET

न - प्रशन्नि चित चेहरा व आत्म विश्वारस में बढोत्तरी
एन्डो्मार्फिन - गाढी नींद व दर्द निवारक औषधि
थाइरोकेनिन - हडि्डयों की मजबूती व आस्टीधयोपोरासिस रोकने में मदद
इन्सुयलिन - रक्त में ग्लूकोज के उपापचय का निगमन करना
टेस्टोस्टेगरान - सेक्स में बढोत्तटरी, लिंग में कडापन व जोशीला व्यक्ति बनाता है ।
एन्टीवाडीज- शरीर की रोंगों से रोग प्रतिरोधक क्षमता व लडने की ताकत बढाना
एण्डोकजन- स्तनों में वृ‍द्धि, चेहरे पर कसाव
सैक्स नैसर्गिक आवश्यकता है इसका दमन कई प्रकार के मानसिक रोगों को जन्म देता है जो कि धीरे-धीरे शारीरिक रोगों में प्रकट होते हैं ।
सैक्स की गलत भ्रांतियॉ व उसके दमन से होने वाले प्रमुख रोग ।
शीघ्रपतन- यह सिर्फ मानसिक रोग है गलत भ्रांतियॉ व उसके दमन की वजह से
पैदा होता है ।
हिस्टीरिया - स्त्रीयों में अपने पति से सैक्स की पूर्ण तृप्ति न होना व सैक्स की
भावनाओं को दबा देने से होता है ।
साइजोफ्रेनिया - सैक्सु्अल एन्जाय का विक्रत रूप 60प्रतिशत रोगों में एन्जायजिम्मे्दार है ।
आस्टियोपोरासिस- 40 प्रतिशत रोगो में सेक्स का दमन व जल्दवाजी जिम्मेदार
आत्म विश्वासमें कमी - 80 प्रतिशत केसों में खुलकर सैक्स न कर पाना, आधी अधूरी इच्छा रह
जाने की वजह से होता है ।
अन्य रोग - सैक्स की अनभिज्ञता व जानकारी का आभाव व गलत जानकारी का
भ्रम पाल लेने की वजह से अन्य कई रोग भी पैदा हो जाते हैं ।
नियम : सैक्स अर्थात सम्भोग करते समय कुछ नियमों को ध्यान में रखा जाये तो सैक्स को स्वासथ्य औषधि बनाया जा सकता है ।
सेक्स की बाते व सैक्स विपरीत लिंग से ही करें । समलैंगिक सैक्स मानसिक व शारीरिक क्षति पहुंचाता है ।
सैक्स का पार्टनर उसे ही मनायें जो की आपके साथ 100 प्रतिशत सैक्स करने को तैयार हो ।
सम्भोग में उतरने से कुछ पहले अपने पार्टनर से इस बाबत बात करे व सहमति ले ऐसा करने पर सैक्स चरमानन्द स्थि्ति तक पहुंचाया जा सकता है ।
सैक्स में उतरने से पहले फोरप्ले अवश्य करे ताकि हार्मोनों का स्त्राव हो सके । स्त्री पुरूष के स्खलन के पश्चात हार्मोन स्त्रावित नहीं हो पाते है ।
स्त्री व पुरूष अपने को सैक्स करते समय बीच में थोडा-थोडा रोकते रहे ताकि सेक्स को लम्बे समय तक चलाया जा सके ।
पुरूष सैक्स करते समय श्वास को सामान्य रख सामान्य श्वास के साथ किया गया सैक्स लम्बे समय तक चलता है ।
स्त्री व पुरूष दोनों को चाहिए कि पूर्ण नग्न‍ होकर फोरप्ले व सम्भोग करें व प्रत्येक अंग प्रत्यंग का मर्दन करें ।
अन्य जानकारी और काउन्सलिंग के लिए ब्यक्तिगत चैटिंग के लिए आमंत्रित है।

No comments:

Post a Comment

डायबिटीज का यौन स्वास्थ (sex life)पर पड़ने वाला प्रभाव

                          डायबिटीज का यौन स्वास्थ  (sex life)पर पड़ने वाला प्रभाव- Diabetes and Sexual Health: डायबिटीज़ (Diabetes) एक हार्...