Tuesday, 12 November 2013


बोरिंग सेक्स लाइफ में लाएं नयापन---

आपकी सेक्स लाइफ अच्छी चल रही है। नियमित अंतराल पर आप और आपके पार्टनर रिलेशनशिप का आनंद ले रहे हैं। फिर भी कभी-कभी लगता है कि कुछ मिसिंग है। दरअसल एक अच्छी रिलेशनशिप में भी एकरूपता आ जाती है। सबकुछ अच्छा हो लेकिन तब भी यह बहुत जरूरी होता है कि सेक्स लाइफ में कुछ नयापन आता रहे। सेक्सुअल रिलेशनशिप को एक नए लेवल तक ले जाने के लिए उसे थोड़ा मसालेदार बनाना भी जरूरी है। ये रहे कुछ ऐसे तरीके जिससे आपकी बोरिंग सेक्स लाइफ हो जाएगी और बेहतर...

पूरे कपड़े न उतारें

आमतौर पर सेक्स के वक्त लोग पूरे कपड़े उतार लेते हैं। लेकिन कभी-कभी कपड़े पहने रहने में कोई बुराई नहीं है। सेक्स से पहले फोरप्ले के दौरान थोड़े कपड़े पहने रहने से एक अलग का तरह का एक्साइटमेंट पैदा होता है।

सांसों का अहसास कराएं


सेक्स के समय आपकी गर्म सांसें आपके पार्टनर को एक्साइट करने में बहुत अहम रोल निभा सकती हैं। एक दूसरे की गर्दन, कान और चेहरे पर अपनी सांस छोड़ें और असर देखें।

थोड़ा रफ भी हो जाए

यूं तो सेक्स के समय पार्टनर को कंफर्टेबल फील कराना आपकी पहली ख्वाहिश होती है। लेकिन कभी-कभी थोड़ा रफ हो जाना भी बुरा नहीं है। अपने मूव्स को थोड़ा सा वाइल्ड करें और देखिए कैसे आपके आनंद में बड़ा इजाफा होता है।

नटखट हो जाएं

अपने पार्टनर को थोड़ा सताएं, थोड़ा मनाएं। रोजाना के कपड़े न पहनकर बेड पर जाने से पहले कुछ सेक्सी पहन लें। कुछ नया करें ताकि आपके साथी एक हैपी सरप्राइज मिले।


किस न करें मिस

आम तौर पर किसिंग फोरप्ले का सबसे अहम हिस्सा होता है। आम दिनों से कुछ अलग करें। अपनी किसिंग से पार्टनर को उसके शरीर के हर हिस्से का अहसास दिलाएं।

सरप्राइज करें

आप और आपका पार्टनर, दोनों हर दिन एक तरह से रुटीन सेक्स से बोर हो गए होंगे। तो फिर कुछ नया करिए। कुछ ऐसी चीजें करिए जो आपका पार्टनर एक्सपेक्ट न कर रहा हो। अपने हर मूव से उसे सरप्राइज करिए।

कोई और करे लीड

हर रिलेशनशिप में लीडर होता है और एक फॉलोअर। लीडर अक्सर पहले मूव करता है। लेकिन कभी-कभी दूसरे साथी को डॉमिनेट करने देना भी अच्छा आइडिया है।

No comments:

Post a Comment

पेरोनीज रोग (लिंग का टेढ़ा होना), जानें इसके कारण, लक्षण और ठीक करने के उपाय-

                                                         पेरोनीज रोग (लिंग का टेढ़ा होना), जानें इसके कारण, लक्षण और ठीक करने के उपाय- पुर...