शुक्रवार, 22 दिसंबर 2017

ये हैं कामेच्‍छा बढ़ाने वाले आयुर्वेदिक अल्टरनेटिव थैरेपी


ये हैं कामेच्‍छा बढ़ाने वाले आयुर्वेदिक अल्टरनेटिव थैरेपी 

लिबिडो कामेच्छा बढ़ाने वाला एक जरूरी हार्मोन है जिसकी कमी से इंसान में कामेच्छा की इच्छा कम हो जाती है । अगर आपमें अचानक से कामेच्छा की इच्छा कम हो जाती है तो कुछ अल्टरनेटिव थैरेपी इस्तेमाल करें । अल्टरनेटिव थैरेपी में एक्यूप्रेशर प्वाइंट का इस्तेमाल सबसे अधिक फायदेमंद होता है । लिबिडो बढ़ाने के लिए एक खास एक्यूप्रेशर प्वाइंट होता है जहाँ प्रेशर डाल कर कामेच्छा बढाई जा सकती है । 
भारतीय  थैरेपी एक्यूप्रेशर प्वाइंट बहुत सारी बीमारियों को ठीक करने के लिए उपयोग की जाती है । अगर आपको अपनी कामेच्छा से संबंधित समस्या के बारे में किसी को भी बताने में शर्म आ रही है तो इस एक्यूप्रेशर प्वाइंट का इस्तेमाल करें ।
लो लिबिडो के कारण
40 फीसदी महिलाओं की ये शिकायत होती है कि उन्हें रजोनिवृत्ति के बाद कामेच्छा खत्म हो जाती है । ऐसा केवल वजाइना Vagina  के सूखने के कारण होता है जो कि लिबिडो हार्मोन की कमी से होता है । इसके लिए इस एक्यूप्रेशर प्वाइंट में प्रेशर डालकर लिबिडो हार्मोन को शरीर में रीलिज करने में मदद मिलेगी । 
इसी तरह 50 फीसदी पुरुषों में 30 की उम्र के बाद टेस्टोस्टेरोन लेवल कम हो जाता है जो 85 की उम्र तक बिल्कुल खत्म हो जाता है । जैसे-जैसे पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन लेवल कम होते जाता है उनकी कामेच्छा की इच्छा भी खत्म होती जाती है । ऐसे पुरुषों के लिए भी ये एक्यूप्रेशर प्वाइंट वाला उपाय कारगर होगा ।
लिबिडो एक्यूप्रेशर प्वाइंट
एक्यूप्रेशर थैरेपी के जरिये शरीर में लिबिडो हार्मोन को बढ़ाने में मदद मिलेगी । शरीर में लिबिडो एक्यूप्रेशर प्वाइंट दो जगह होते हैं ।
स्टोमक प्वाइंट - शरीर में लिबिडो हार्मोन बढ़ाने के लिए पेट में नाभी की जगह पर उंगुलियों के पोर से चार-पांच मिनट तक प्रेशर डालते रहें । इसी तरह से प्रेशर डालते हुए नाभी से दो उंगुली नीचे जाएं । थोड़ी देर वहां पर प्रेशर डालें । ऐसा सुबह-शाम दस-दस मिनट के लिए करें । इससे लिबिडो हार्मोन शरीर में रीलिज होगा और आपमें कामेच्छा उत्पन्न होगी ।  
किडनी प्वाइंट - किडनी आपके शरीर का सबसे अधिक प्रोडक्टिव पार्ट है जिसके आधार पर शरीर की जीवन-क्रिया चलती है । लिबिडो हार्मोन के लिए किडनी प्वाइंट काफी हेल्पफुल है । किडनी प्वाइंट एंकल बोन में होती है । एंकल प्वाइंट पर उंगुलियों के पोर से प्रेशर डालें । इससे एचिल्स टेंडन पर प्रेशर पड़ता है जो किडनी से जुड़ी होती है । ये आपको रिलेक्स करता है और शरीर में लिबिडो हार्मोन रीलिज करता है ।
अधिक जानकारी के लिए Dr.B.K.Kashyap से सं
पर्क करें 8004999985

Kashyap Clinic Pvt. Ltd.

Blogger -- https://drbkkashyap.blogspot.in
Google Plus- https://plus.google.com/100888533209734650735




Gmail-dr.b.k.kashyap@gmail.com



Twitter- https://twitter.com/kashyap_dr

Justdial- https://www.justdial.com/Allahabad/Kashyap-Clinic-Pvt-Ltd-Near-High-Court-Pani-Ki-Tanki-Civil-Lines/0532PX532-X532-121217201509-N4V7_BZDET
Lybrate - https://www.lybrate.com/allahabad/doctor/dr-b-k-kashyap-sexologist
Sehat - https://www.sehat.com/dr-bk-kashyap-ayurvedic-doctor-allahabad
Linkdin - https://in.linkedin.com/in/dr-b-k-kashyap-24497780

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टेस्टोस्टोरोन (सेक्स हॉर्मोन ) की कमी से पुरुषों में दिखते हैं ये लक्षण, न करें इन्हें नज़रअंदाज़

टेस्टोस्टोरोन (सेक्स हॉर्मोन) की कमी से पुरुषों में दिखते हैं ये लक्षण, न करें इन्हें नज़रअंदाज़ उम्र बढ़ने के साथ-साथ अक्सर पुरुषों में टेस्ट...